Sujok Acupuncture six ki auricular Combo

353
Rs 599
Sujok Acupuncture six ki auricular Combo
Sujok Acupuncture six ki auricular Combo

Description :

Sujok Therapy Combo Kit :- An ANCS Sujok Kit of all items of first best quality items in Sujok Therapy. Contains Sujok Star Magnet, Byol Magnet, 5 Star Cluster, Sujok Metal Jimmy, Crystal Shine Jimmy, Sujok Ball, Surgical Paper Tape .5" and 1" for attaching magnets, cutter for tape cutting, Chakra Magnet, Sujok Ring with fingers For total 10 items manufactured by ANCS Acupressure.

Use of Sujok Ball :- It is available in five colors made of plastic, they are used for rotating in the middle part of both the hands. Its use provides relief from many diseases of the body according to Sujok therapy. They should be used 2 minutes to 20 minutes before eating food. These five different colors have different significance. 1. Yellow color:- It is said to be the color of the earth element, which has the power to prevent. Meaning, if someone has frequent urination, motion, then 2 minutes to 20 minutes before eating food, rotate this ball in the hand. If there is a problem of hair fall then it is beneficial to use it. Even if you want to gain weight, this ball is very useful. 2. Blue colour: According to Ayurveda, this color has been described as fire colour. Controls diseases of people whose fat is increasing, loss of appetite, desire to drink less water, increase of diseases in winter, increase of sugar etc. Hot elements act as fire for all these diseases and this blue color should be used. 3. Green color :- Water element has been mentioned. It has the opposite of blue. i.e. water (hot to cold) as opposed to fire. People who feel excessive hunger, excessive thirst, exacerbation of diseases in summer, acidity, burning sensation, heartburn, bad breath, bleeding gums etc. 4. Pink:- Diseases of the mind, in which there is tension, (anxiety):- In which the patient gets intense restlessness, insomnia, lack of control over the mind with negative thoughts, consuming sugar, eating sweets. If you want, this ball will be used. 5. Use the red ball to return a direction to the correct place. Any organ of the body has been removed from its place and it is used to bring it back to the right place, such as: - Removal of the navel, it can be used when the location of the uterus is changed.

https://youtube.com/shorts/IDcfTihroEU

सुजोक थेरेपी कॉम्बो किट :- सुजोक थेरेपी में प्रथम सबसे अच्छी गुणवत्ता वाली वस्तुओं के सभी आइटम का एक ANCS सुजोक किट।  जिसमे सुजोक स्टार मैगनेट, ब्योल मैगनेट, 5 स्टार क्लस्टर, सुजोक मैटल जिमी, क्रिस्टल शाइन जिमी, सुजोक बॉल, मैगनेट लगाने के लिए सर्जिकल पेपर टेप .5 "और 1", टेप काटने के लिए कटर, चक्रा  मैगनेट, सुजोक रिंग अँगुलियों के लिए कुल 10 आइटम ANCS एक्यूप्रेशर द्वारा निर्मित।

सुजोक बॉल का प्रयोग :- यह प्लास्टिक से बनी पांच रंगों में उपलब्ध है, इनका उपयोग दोनों हाथों के मध्य भाग में घुमाने के लिए किया जाता है। इसके प्रयोग से सुजोक थेरेपी के अनुसार शरीर के अनेक रोगों से मुक्ति मिलती है। इन्हें खाना खाने से पहले 2 मिनट से 20 मिनट तक इस्तेमाल करना चाहिए। इन पांच अलग-अलग रंगों का अलग-अलग महत्व है। 1. पीला रंग :- इसे पृथ्वी तत्व का रंग बताया गया है, जो रोकने की शक्ति रखता है। मतलब अगर किसी को बार-बार यूरिन, मोशन आता है तो खाना खाने से 2 मिनट से 20 मिनट पहले इस बॉल को हाथ में घुमाएँ। अगर बाल झड़ने की समस्या है तो इसका इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। अगर आप वजन बढ़ाना चाहते हैं तो भी यह गेंद बहुत काम आती है। 2. नीला रंग : आयुर्वेद के अनुसार इस रंग को अग्नि रंग बताया गया है। जिन लोगों की चर्बी बढ़ रही है, भूख न लगना, कम पानी पीने की इच्छा, सर्दी में बीमारियों का बढ़ना, शुगर का बढ़ना आदि रोगों को नियंत्रित करती है। इन सभी रोगों के लिए गर्म तत्व अग्नि के रूप में काम करते हैं और इस नीले रंग का प्रयोग करना चाहिए। 3. हरा रंग :- जल तत्व का उल्लेख किया गया है। इसमें नीले रंग के विपरीत है। यानी आग के विपरीत पानी (गर्म से ठंडा)। जिन लोगों को अधिक भूख लगती है, अत्यधिक प्यास लगती है, गर्मी में बीमारियों का बढ़ना, एसिडिटी, जलन, सीने में जलन, सांसों की दुर्गंध, मसूड़ों से खून आना आदि। 4. गुलाबी:- मन के रोग, जिनमें तनाव हो, (चिंता):- जिसमें रोगी को तीव्र बेचैनी, अनिद्रा, मन पर नियंत्रण की कमी के साथ नकारात्मक विचार आते हैं, चीनी का सेवन, मीठा खाने से होता है। इच्छा हो तो इस गेंद का प्रयोग होगा। 5. लाल बॉल का प्रयोग किसी दिशा को सही जगह पर वापस लाना। शरीर का कोई ऑर्गेन अपने स्थान से हट गया है और वापस सही जगह पर लाने के लिए इसका प्रयोग होता है जैसे :-नाभि का हटना,  Uterus की जगह बदल जाने पर इसका प्रयोग कर सकते है।